आहत हृदय

विचार व संप्रेषण

59 Posts

437 comments

सुधीर कुमार


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

फेसबुक ने बदली दुनिया!

Posted On: 4 Feb, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

0 Comment

‘विशेष आर्थिक क्षेत्र’ बना घाटे का सौदा!

Posted On: 29 Jan, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

फेसबुक संस्थापक के नाम एक भारतीय का पत्र

Posted On: 24 Jan, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

बिखरती युवाशक्ति से टूटता राष्ट्र!

Posted On: 18 Jan, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

social issues में

2 Comments

सपने दिखाकर मौत बेचते कोचिंग संस्थान!

Posted On: 8 Jan, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

एक नयी तबाही की इबारत!

Posted On: 8 Jan, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

2 Comments

किशोर,अपराध और समाज!

Posted On: 24 Dec, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करे समाज

Posted On: 17 Dec, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

बाढ की विभीषिका

Posted On: 8 Dec, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

सौर ऊर्जा के विकास पर बल सराहनीय

Posted On: 7 Dec, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

जिंदगी को तबाह करता एड्स

Posted On: 25 Nov, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others social issues में

0 Comment

घटते वन से खतरे में जीवन!

Posted On: 24 Nov, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

Page 2 of 3«123»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

के द्वारा: सुधीर कुमार सुधीर कुमार

 देश के लगभग १० प्रतिशत लोग संतान हीनता के शिकार हैं .प्रदूषण ,मिलावटी ,कीटनाशक युक्त भोजन इस समस्या को बढाता जा रहा है ..हिन्दुओं में एक विवाह प्रथा की वजह से संतान हीन लोगों के लिय सोरोगेसी ही एकमात्र रास्ता बचता है .गाँव  की बात तो छोड़े शेहेर  में भी  इस के बारे में जागरूकता नहीं . इस में सब से बड़ी समस्या सोरोगेट माँ बनने के लिए तैयार महिला ढूढना है  जो की निम्न वर्ग से आती हैं .ऐसे में न तो डॉक्टर ही और न ही निसंतान व्यक्ति का ही उन से संपर्क होता है बिचोलिए ही एकमात्र संपर्क सूत्र होते हैं .यह बिचोलिए ही इन महिलाओं को सोरोगेट माँ बनने के  लिए तयार करते हैं और ज्यादा पैसा लेते हैं  . सरकार को महिलाओं को सोरोगेट बनने के लिए प्रेरणा प्रोग्राम शुरू करने चाहिय .अच्छा हो अगर स्वय सेवी संस्थाएं आगे आयें और अंगदान  की तर्ज़ पैर कोख्दान भी शुरू किया जाए .इस तरेह बिना पैसे लिए निसंतान दम्पति की मदद करनें वाली महिला को दूसरी माँ का दर्ज़ा दिया जाए और बच्चे से जुड़े सभी धार्मिक  और सामाजिक कार्यक्रम में उचित सम्मान दिया जाय

के द्वारा:




latest from jagran